बिलासपुर: उद्योग को फायदा पहुंचाने का मकसद, विभाग के अधिकारियों ने पानी लिफ्ट करने का बदला स्थान, दर्ज हो एफआईआर: राम लाल ठाकुर

News Updates Network
0
न्यूज अपडेट्स 
बिलासपुर व सोलन की सीमा पर त्रिवेणीघाट में अलीखड्ड से पेयजल योजना के विरोध में चल रहा आंदोलन लंबा खिंचने के आसार हैं। पूर्व मंत्री एवं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता रामलाल ठाकुर ने भी इस आंदोलन का समर्थन किया है। 

उन्होंने कहा कि एक उद्योग को फायदा पहुंचाने के मकसद से जल शक्ति विभाग के अधिकारियों ने पेयजल योजना के लिए पानी लिफ्ट करने का स्थान ही बदल डाला। उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज होनी चाहिए। बेहतर होगा कि सीएम सुखविंदर सिंह सुक्खू और डिप्टी सीएम मुकेश अग्निहोत्री इस मामले को गंभीरता से लेकर इसमें हस्तक्षेप करें। 

उन्होंने नयनादेवी के विधायक रणधीर शर्मा पर इस मामले में राजनीति करने का आरोप भी लगाया। बुधवार को सर्किट हाउस में पेयजल योजना के विरोध में आंदोलनरत लोगों से मुलाकात के बाद पत्रकारों से बातचीत में रामलाल ठाकुर ने कहा कि इस योजना को वर्ष 2019 में भाजपा सरकार के समय मंजूरी मिली थी। 

जनवरी 2021 में इसके टेंडर किए गए। उस समय उन्होंने तत्कालीन जल शक्ति मंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर को अवगत करवाया था कि इस योजना के बनने से अलीखड्डू से पहले से चल रही दर्जनों पेयजल व सिंचाई स्कीमें ठप हो जाएंगी। इस पर महेंद्र सिंह ने योजना का काम बंद करवाने की बात कही थी।

Post a Comment

0 Comments
Post a Comment (0)
To Top