हिमाचल की बेटी विदेश में लापता, भाई बोला - चंडीगढ़ की एजेंट ने धोखे से ओमान भेजा, एजेंट तलब

Anil Kashyap
0
न्यूज अपडेट्स 
कांगड़ा, 28 दिसंबर: हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा जिला के शाहपुर क्षेत्र की बेटी मुसीबत में है। पवना (24 साल) किसी एजेंट के थ्रू नौकरी की तलाश में दुबई गई थी। भाई रोहित का आरोप है कि चंडीगढ़ की महिला एजेंट ने उसकी बहन को दुबई के बजाय ओमान भेज दिया। उसे खाने-पीने को भी नहीं दिया जा रहा है। उसका मोबाइल फोन और पासपोर्ट भी छीन लिया गया है।

कांगड़ा के ASP हितेश लखनपाल ने बताया कि पुलिस ने पवना के भाई रोहित की शिकायत पर कार्रवाई करते हुए पवना को विदेश भेजने वाली महिला एजेंट को आज धर्मशाला तलब किया है। उससे पूछताछ कर पवना के बारे में कुछ जानकारी मिलने की उम्मीद है। पुलिस ने भी ब्यूरो ऑफ इमिग्रेशन को पत्र लिखकर लड़की के एग्जिट और एंट्री को लेकर जानकारी मांगी है और पवना की लोकेशन का पता लगाया जा रहा है।

16 दिसंबर को दिल्ली एयरपोर्ट से आया बहन का फोन: रोहित ने बताया कि 16 दिसंबर को उसकी बहन ने फ्लाइट से वीडियो कॉल किया था। इसके बाद 23 दिसंबर को उसका आखिरी बार फोन आया। उन्होंने बताया कि बहन ने यह कॉल किसी ओर के फोन से किया। इस दौरान पवना ने बताया कि उन्हें ओमान भेजा गया है। उसके साथ कुछ ओर भी लड़कियां बताई जा रही है।

गरीब परिवार से संबंध रखती है पवना: पवना गरीब परिवार से है और पिता की मृत्यु हो गई है। गरीबी के कारण वह काफी समय से नौकरी खोज रही थी और जिस एजेंट के जरिए वह विदेश गई हैं, उससे पवना चंडीगढ़ में नौकरी की मांग कर रही थी। पवना बीए सेकेंड ईयर की पढ़ाई कर रही थी। रोहित के अनुसार, एजेंट ने उसे दुबई में अच्छी सेलरी पर कोई जॉब दिलाने का वादा किया था, लेकिन अब एजेंट फोन भी नहीं सुन रही।

शाहपुर के विधायक ने मुख्यमंत्री के समक्ष उठाया मामला: इस मामले को शाहपुर के विधायक केवल सिंह पठानिया ने मुख्यमंत्री सुखविंदर सुक्खू के समक्ष उठाया। विधायक ने मुख्यमंत्री से इस मामले को जल्द विदेश मंत्रालय के समक्ष उठाकर पवना को वापस लाने का आग्रह किया है। इस पर मुख्यमंत्री ने भी जल्द उचित कार्रवाई करने के निर्देश दिए है। पुलिस भी कार्रवाई में जुट गई है।

Post a Comment

0 Comments
Post a Comment (0)
To Top