हिमाचल : बारिश ने फिर मचाई भारी तबाही; नाहन-बल्ह-रिवालसर में बादल फटा, चार लोगों की मौत

Anil Kashyap
0
हिमाचल में बारिश ने रविवार को एक बार फिर तबाही मचा दी। भारी बारिश के कारण नदियों का जल स्तर बढऩे और जगह-जगह भू-स्खलन की घटनाएं होने से प्रदेश भर में चार मौतें हो गईं, जबकि करोड़ों रुपए की संपत्ति का नुकसान हुआ है। राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की ओर से प्राप्त जानकारी के अनुसार प्रदेश में रविवार दो मौतें शिमला जिला में हुई है।  इसके अलावा हमीरपुर जिला के भोरंज उपमंडल के तहत लज्याणी गांव में मकान गिरने से एक महिला की मौत हो गई, जबकि मलबे में दबे उसके बेटे को ग्रामीणों ने सुरक्षित निकाल लिया।

उधर, उपमंडल सरकाघाट की ग्राम पंचायत गैहरा में पेड़ के नीचे दबने से एक व्यक्ति की मौत हो गई। नाहन विधानसभा क्षेत्र की बर्मा पापड़ी पंचायत के कंडीवाला गांव में रविवार रात को बादल फटा। यहां बसें, गाडिय़ां और मोटरसाइकिल सब दलदल में चले गए। 40 के लगभग बच्चों ने एक मकान की छत पर पहुंचकर जान बचाई। यहां दोनों तरफ से सडक़ कट गई है। सुंदरनगर के किरतपुर-नेरचौक फोरलेन पर जगह जगह भूस्खलन से ट्रैफिक वन-वे कर दिया गया है। 

इसी तरह जिला मंडी के उपमंडल बल्ह के बंगलोह व ग्रांचा में रविवार सुबह बादल फटने से अचानक अफरा-तफरी मच गई। सैकड़ों बीघा जमीन बह गई। बल्ह घाटी जलमग्न हो गई है। घाटी की अधिकतर संपर्क सडक़ें भी भू-स्खलन के कारण बंद हैं। उधर, मंडी के रिवालसर क्षेत्र में रविवार को बादल फटने व जगह-जगह भू-स्खलन के चलते आठ घर व दर्जनों गौशालाएं जमीदोज हो गईं। गौशालाओं में दबने से छह पशुओं का समाचार है। रिवालसर झील में मलबा और बढ़ गया है।

कई बीघा जमीन लैंडस्लाइड में बह गई है। रिवालसर को जोडऩे वाली सभी सडक़ें बंद हो गई हंै, जिससे रिवालसर का जिला मुख्यालय से यातायात संपर्क पूरी तरह से कट गया है। कोठी गहरी में भारी भू-स्खलन से 15 मकानों को भारी खतरा हो गया है। मकानों को खाली करवाकर उनमें रह रहे परिवारों को नजदीकी सरकारी स्कूल में शिफ्ट किया गया है। भारी बारिश के कारण प्रदेश में दो एनएच समेत 621 सडक़ें बंद हो गई है। शिमला-कालका हाईवे चक्की मोड़ में पूरी तरह से सभी प्रकार के वाहनों के लिए बंद कर दिया गया है। सडक़ों के अलावा प्रदेश में बिजली व्यवस्था भी पूरी तरह से चरमरा गई हैं। प्रदेश में दो हजार से ज्यादा ट्रांसफार्मर बंद पड़े हुए है, जिसके कारण प्रदेश के कई गांवों में अंधेरा पसर गया है।

नदियां उफान पर, पौंग से छोड़ा जाएगा पानी

हिमाचल में पिछले दो दिनों से हो रही लगातार बारिश के कारण प्रदेश की नदियां उफान पर हैं। भारी बारिश के चलते पौंग बांध के जलस्तर में भी बढ़ोतरी हुई है। परिणामस्वरूप बीबीएमबी प्रशासन द्वारा सोमवार को सुबह आठ बजे से पौंग डैम से निरंतर पानी छोड़ा जाएगा। इस दौरान 14 अगस्त को सुबह आठ बजे से 25 हजार क्यूसेक, 10 बजे के बाद 40 हजार क्यूसेक तथा दोपहर 12 बजे बाद से 50 हजार क्यूसेक पानी छोड़ा जाएगा।

आज 10 जिलों में बाढ़ का अलर्ट

मौसम विभाग ने प्रदेश में आगामी 24 घंटों के लिए 10 जिलों में बाढ़ का अलर्ट जारी किया है। इन जिलों में शिमला, मंडी, कांगड़ा, किन्नौर, सोलन, सिरमौर, चंबा, बिलासपुर, हमीरपुर और कुल्लू शामिल हैं। हिमाचल प्रदेश में सोमवार और मंगलवार को भारी बारिश को लेकर ओरेंज अलर्ट जारी किया गया है। इसके बाद 17 अगस्त तक प्रदेश में यलो अलर्ट जारी रहेगा।

Post a Comment

0 Comments
Post a Comment (0)
To Top