HP News: नालागढ़ में अवैध शराब फैक्टरी का भंडाफोड़, पुलिस ने मकान से अवैध रूप से दारू तैयार करने का जखीरा पकड़ा Read Full News...

News Update Media
0
औद्योगिक कस्बे नालागढ़ के तहत गुज्जरहट्टी में जंगल के बीचों बीच चल रही एक अवैध शराब फैक्टरी का पुलिस ने भंडाफोड़ किया है। इस अवैध फक्ट्री के तार सुदंरनगर में जहरीली शराब पीने से हुई मौत के मामले से भी जुड़े हैं। दरअसल जहरीली शराब के मामले में पुलिस के हत्थे चढ़े मुख्य सरगना से पुछताछ के दौरान ही गुज्जरहट्टी के नाल जंगल में चल रहे इस अवैध बॉटलिंग प्लांट के बारे में खुलासा हुआ। शुक्रवार देर रात सूचना मिलने के तुरंत बाद नालागढ़ पुलिस ने इस प्लांट में दबिश दी और करीब 4500 खाली बोतलें, 40 ड्रम, 47 खाली वीआरवी अंकित कार्टन सहित अन्य सामग्री बरामद की है। इसके अलावा 188 बोतलें चंडीगढ़ मार्का रम व 10 बोतलें वीआरवी संतरा शराब की भी पुलिस ने कब्जे में ली हैं। बताया जा रहा है कि अरसे से यहां अवैध शराब का उत्पादन किया जा रहा था, लेकिन गत शुक्रवार की रात जब पुलिस ने दबिश दी, तो प्लांट पर ताला लगा था, शराब के इस अवैध बॉटलिंग प्लांट में दो स्थानीय लोगों की संलिप्ता भी पाई गई है।
फिलवक्त पुलिस ने आबकारी अधिनियम की विभिन्न धाराओं के तहत मुकद्दमा दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है। जानकारी के मुताबिक पुलिस चौकी जोंघो को सूचना मिली कि गुजरहट्टी (नालागढ़) के पास जंगल में किराए के भवन में शराब का अवैध उत्पादन किया जाता है और इस जंगल में अवैध बॉटलिंग प्लांट होने का अंदेशा है, जिस पर जोंघों चौकी में एएसआई हरजीत सिंह, मुख्य आरक्षी दिवान चंद की अगुवाई में सुरेश कुमार, नरेंद्र व परमजीत ने नाल (गुज्जरहट्टी) के जंगल सुनसान जगह पर बनी एक बिल्डिंग में दबिश दी। पड़ताल की तो पता चला कि इस भवन मेंं शराब का अवैध बॉटलिंग प्लांट चलाया जा रहा है। पुलिस कर्मियों ने गेट का ताला तोड़ा और भीतर से भारी मात्रा में शराब की बॉटलिंग में इस्तेमाल की जा रही सामग्री बरामद की है। पुलिस ने मौके से 40 खाली ड्रम व 26 बोरियों में भरी शराब की 4500 बोतलें, 47 कार्टन जिन पर वीआरवी अंकित था सहित 43 बंडल बोतल पैकिंग के स्टीकर की बरामदगी की। इसके अलावा पुलिस ने मौके से 16 पेटी ट्रिप्पल एक्स रम चंड़ीगढ़ मार्का व दस बोतलें वीआरवी संतरा भी कब्जे में ली हैं। जांच में सामने आया है कि गुज्जरहट्टी के नाल जंगल में बना यह भवन करीब छह महीने पहले राम प्रकाश ने किसी व्यकित को किराए पर दिया था, जो कि अब फरार है। बता दें कि सुंदरनगर जहरीली शराब के मामले में पुलिस के हत्थे चढ़े आरोपी गोरू ने पुलिस पुछताछ के दौरान गुज्जरहट्टी में इस अवैध बॉटलिंग प्लांट का खुलासा किया था, जिसके अंतर्गत पुलिस जिला बद्दी प्रशासन ने सूचना के आधार पर छापेमारी की और शराब के इस अवैध बॉटलिंग प्लांट का पर्दाफाश हुआ। इस अवैध फैक्टरी के संचालक समेत दो संदिग्ध फिलहाल पुलिस के राडार पर हैं, जिनकी भूमिका की जांच की जा रही है। फिलवक्त दोनों संदिग्ध 19 जनवरी से फरार हैं। पुलिस टीम ने शनिवार सुबह इनके घर पर भी दबिश दी है, लेकिन दोनों वहां नही मिले।

Post a Comment

0 Comments
Post a Comment (0)
To Top