Election Commission of India : पांच राज्यों में चुनावों का ऐलान , इस तारीख को आएगा परिणाम, 15 जनवरी तक रैलियों और सभाओं पर रोक: पढ़ें पूरी रिपोर्ट

शिमला : पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनावों को लेकर आज चुनाव आयोग की प्रेस वार्ता हुई। पंजाब, उत्तरप्रदेश, गोवा, मणिपुर और उत्तराखंड में विधानसभा चुनावों की तारिखों को लेकर आज घोषणा होना है। प्रेसवार्ता में मुख्य चुनाव आयुक्त सुशील चंद्रा ने कहा ने कहा कि चुनावों को लेकर स्वास्थ्य विभाग से चर्चा हुई थी। कोविड काल के दौरान चुनाव कराना चुनौतीपूर्ण है। कोविड को देखते हुए नए प्रोटोकॉल के तहत चुनाव कराए जाएंगे। 

उन्होंने कहा कि पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनावों में 18.3 करोड़ मतदाता अपने मत का प्रयोग करेंगे। इसके साथ ही 24.9 लाख पहली बार अपने मत का प्रयोग करेंगे। इनमें सर्विस मतदाता भी शामिल हैं, इनमें से 8.55 करोड़ महिला मतदाता हैं। कुल 24.9 लाख मतदाता पहली बार वोट डालेंगे। इनमें से 11.4 लाख लड़कियां पहली बार वोटर बनीं है। पत्रकार वार्ता को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि वर्ष 2017 के मुकाबले 16 प्रतिशत पोलिंग बूथ बढ़ाए गए हैं। कोविड काल के दौरान चुनाव होने के कारण प्रत्येक पोलिंग बूथ पर सेनेटाइजर, थर्मल स्कैनर का प्रयोग होगा। 

इस बार चुनावों में 2.15 लाख से ज्यादा पोलिंग बूथ होंगे। सभी बूथ ग्राउंड फ्लोर पर होंगे, ताकि लोगों को सुविधा हो. बूथ पर सैनिटाइजर, मास्क उपलब्ध होगा। मुख्य चुनाव आयुक्त सुशील चंद्रा ने कहा हर विधानसभा चुनाव में एक पोलिंग बूथ को पूरी तरह से महिला स्टाफ संभालेगा। 

चुनाव आयुक्त ने कहा कि सभी बूथ पर पुरुष और महिला सुरक्षाकर्मी तैनात होंगे। दिव्यांगों के लिए विशेष इंतजाम होंगे हर बूथ पर वॉलेंटियर मदद करेंगेख् व्हील चेयर भी हर बूथ पर होगी। कोविड प्रभावित या कोविड संदिग्ध के घर वीडीओ टीम के साथ आयोग की टीम विशेष वैन से जाएगी वोट डलवा कर आएगी, इन्हें बैलेट पेपर से वोट डालने का अधिकार मिलेगा। 

इस बार 1250 मतदाताओं पर एक बूथ बनाया गया है, पिछले चुनाव की तुलना में 16 फीसदी बूथ बढ़ गए हैं। 1620 बूथ को महिला पोलिंगकर्मी मैनेज करेंगी। 900 आब्जर्बर चुनाव पर नजर रखेंगे। चुनाव आयोग ने सरकारी कर्मचारियों के अलावा 80 साल से ज्यादा उम्र के नागरिकों, दिव्यांगों और कोविड प्रभावित लोगों के लिए पोस्टल बैलेट की व्यवस्था की है। 

चुनाव आयोग ने कोरोना को देखते हुए मतदान के लिए समय को एक घंटा बढ़ा दिया गया है। चुनाव के समय की घोषणा अधिसूचना जारी करने के वक्त की जाएगी। कोविड के खतरे को देखते हुए चुनाव आयोग ने आज से 15 जनवरी तक रोड शो, रैली, साइकिल रैली पद यात्रा तक रोक पूर्ण रुप से रोक लगा दी है। 15 जनवरी के बाद पर इस पर विचार किया जाएगा। 

सात फेज में 5 राज्यों में होंगे चुनाव

यूपी में पहले फेज का मतदान 10 फरवरी को होगा। जबकि दूसरा फेज-14 फरवरी, तीसरा फेज- 20 फरवरी, चौथा फेज- 23 फरवरी, पांचवां फेज- 27 फरवरी, छठा पेज- 3 मार्च, सातवां फेज- 7 मार्च को होगा। 10 मार्च को मतगणना की जाएगी। पंजाब, गोवा और उत्तराखंड में एक फेज में चुनाव होंगे। 14 फरवरी को पंजाब गोवा और उत्तराखंड में मतदान होगा। 


मणिपुर में 27 फरवरी को पहले चरण का मतदान और 3 मार्च को दूसरे चरण का मतदान होगा। वहीं यूपी में यूपी में 7 चरणों में चुनाव होंगे। 10 फरवरी को मतगणना पहला चरण, 14 फरवरी दूसरा चरण,  20फरवरी तीसरा चरण,  23 फरवरी चौथा चरण, 27 फरवरी पांचवां चरण,  03 मार्च छठा चरण, 07 मार्च सातवां चरण और 10 मार्च मतगणना का जाएगी।

Previous Post Next Post