Home World India Himachal Pradesh Bilaspur Mandi Kullu Kangra Solan Shimla Una Chamba Kinnour Sirmour Hamirpur Lahoulspiti Politics HRTC Haryana Roadways HP Cabinet Crime Finance Accident Business Education Lifestyle Transport Health Jobs Sports

बिलासपुर : जान जोखिम में डालकर बसों में सफर कर रहे यात्री, ओवरलोडिंग को प्रशासन कर रहा नजरंदाज

News Updates Network
0
Bilaspur: Passengers are risking their lives while traveling in buses, the administration is ignoring overloading.
बस अड्डे से ही बसों में ओवरलोडिंग : फोटो - न्यूज अपडेट्स नेटवर्क

न्यूज अपडेट्स 
बिलासपुर, 17 जनवरी: एचआरटीसी बिलासपुर (HRTC Bilaspur) की बंदला (Bandla) रूटों पर चलने वाली बसों में निरंतर ओवरलोडिंग (Overloading) देखने को मिलती है। लेकिन इस पर एचआरटीसी प्रबंधन लापरवाही बरतता नजर आ रहा है यह कोई एक दिन की बात नहीं है यह बहुत समय से ऐसा ही चलता आ रहा है। 

जानकारी के अनुसार, बिलासपुर से बंदला 4:15 बजे चलने वाली बस को एचआरटीसी प्रबंधन ने बंद कर दिया। इसी बस को लेकर पहले भी बस अड्डे में हंगामा हुआ था। जिसके बाद फिर से बस को एचआरटीसी प्रबंधन को चलाना पड़ा था। स्थानीय लोगों का कहना है एचआरटीसी की इसी लापरवाही के कारण 2011 में हादसा हुआ था लेकिन फिर भी इनके अफसर इतने लापरवाह है जो समझ से परे है। 47 सीटर बसों में 100 से 120 यात्री हर दिन जान जोखिम में लेकर सफर कर रहे है। यात्रियों ने बताया बस को स्कूल बस का हवाला देकर बंद कर दिया जाता है। 

ट्रैफिक मैनेजर देगा इसकी जानकारी : बस को क्यों बंद किया गया है जब इस मामले में बस अड्डे से जानकारी लेने का प्रयास किया गया तो वहां पर तैनात किए गए कर्मचारी के द्वारा कहा गया की जानकारी नहीं है बस को बंद क्यों किया गया है। ये जानकारी आपको ट्रैफिक मैनेजर से मिलेगी।

अड्डे में तैनात किए गए कर्मचारियों को पता ही नहीं है की बस को क्यों बंद किया गया है तो यह जनता को क्या जानकारी उपलब्ध करवा सकते है यह इस मामले से साफ नजर आ रहा है।

उधर, डीएसपी मदन धीमान ने जानकारी देते हुए बताया की बिलासपुर से बंदला जाने वाली एचआरटीसी बसों में निरंतर ओवरलोडिंग होने की शिकायतें मिल रही है। बसों को चेक करके उचित कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
एक टिप्पणी भेजें (0)

#buttons=(Ok, Go it!) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Ok, Go it!
To Top