नई सुविधा : खुले पैसे की टेंशन होगी खत्म, HRTC परिचालकों को मिलेंगी हाईटेक टिकट मशीनें, ऑनलाइन कर सकेंगे पैसे का भुगतान

न्यूज अपडेट्स 
शिमला, 28 सितंबर: एचआरटीसी बसों में यात्री आने वाले दिनों में अब ऑनलाइन पेमैंट कर बस टिकट का भुगतान कर सकेंगे। बसों में सफर करने के लिए यात्रियों को कैश की जरूरत नहीं होगी। यात्री अपने मोबाइल या फिर एटीएम डैबिट व क्रैडिट कार्ड से किराए का भुगतान कर सकेंगे। इसके लिए निगम प्रबंधन ने कंडक्टरों के लिए आधुनिक सुविधाओं से लैस (हाईटैक) मशीनों की खरीद की है। इन मशीनों की खरीद को लेकर टैंडर प्रक्रिया पूरी हो गई है। जल्द ही यह मशीनें निगम के पास पहुंचेगी। टिकट लेने के लिए सभी तरह की ऑनलाइन भुगतान की सुविधा कंडक्टर की मशीन में ही होगी। निगम प्रबंधन से मिली जानकारी के अनुसार नए साल में कंडक्टरों को यह मशीन मिलने की संभावना है। 

यात्री ऐसे कर सकेंगे ऑनलाइन टिकट का भुगतान

एचआरटीसी की नई टिकटिंग मशीनों में टिकट के भुगतान के लिए 3 से 4 तरीके होंगे। जिसमें यात्री किसी भी एक तरीके से ऑनलाइन भुगतान कर टिकट खरीद सकेगा। नई ई-टिकटिंग मशीनों में क्रैडिट व एटीएम डैबिट कार्ड से भी किराए भुगतान की सुविधा होगी जिसमें कंडक्टर यात्री से भुगतान करने की प्रक्रिया पूछेगा। यात्री यदि कार्ड से पेमैंट करना चाहता है तो वह कार्ड स्वाइप करेगा, जिसके बाद ऑटोमैटिक टिकट प्रिंट होकर आ जाएगा, वहीं यदि गूगल पे या फोन पे से स्कैन कर टिकट का भुगतान करता है तो कंडटर की मशीन में ही क्यूआर कोड होगा जिससे स्कैन कर भी टिकट का भुगतान हो सकेगा। 

प्री-पेड कार्ड भी बनावा सकेंगे यात्री, रिचार्ज करना होगा कार्ड 

नई ई-टिकटिंग मशीन में प्री-पेड कार्ड से टिकट लेने का भी ऑपशन होगा। इसमें एचआरटीसी बैंक के माध्यम से एक प्री पेड कार्ड बनाएगा। जिसे यात्री खरीद सकेंगे और रिचार्ज कर सकेंगे। यात्री जब भी यह कार्ड परिचालक को देगा और गंतव्य स्थान बताएगा तो राशि के हिसाब से प्री-पेड कार्ड से टिकट की राशि कट जाएगी। इसके अतिरिक्त यदि कोई यात्री कैश देकर भी टिकट लेना चाहता है तो यह सुविधा भी मशीनों में होगी।

निगम में टिकट के भुगतान की इस प्रक्रिया का यात्रियों व परिचालकों को दोनों को फायदा होगा। जहां परिचालक को हमेशा पैसों का बैग लेकर नहीं घूमना होगा और न ही खुले पैसे को लेकर परेशानी होगी। इसके अतिरिक्त खुले पैसों को लेकर यात्रियों से भी कोई विवाद नहीं होगा। इसके अतिरिक्त यात्रियों को भी बसों में सफर करने की कैशलैस सुविधा मिलेगी। बस में सफर करने के लिए कैश लेकर साथ लेकर नहीं जाना होगा। वहीं खुले पैसों की समस्या भी खत्म होगी।  
 
मौजूदा समय में निगम के परिचालकों की ई-टिकटिंग मशीनें खराब हो रही हैं। कभी मशीनों में प्रिंट नहीं हो आ रहे हैं तो कभी यह अपडेट नहीं हो रही हैं। लेकिन नई मशीनों को मिलने के बाद निगम के सैंकड़ों परिचालकों को भी सुविधा मिलेगी। 

प्रबंध निदेशक एचआरटीसी रोहन चंद ठाकुर ने बताया कि एचआरटीसी में निगम परिचालकों की ई-टिकटिंग मशीनें अब आधुनिक सुविधाओं से लैस होंगी। टिकट के भुगतान को लेकर भी ऑनलाइन सुविधा मशीन में उपलब्ध होगी। इसके लिए टैंडर प्रक्रिया जारी है। नए साल में नई ई-टिकटिंग मशीनें कंडक्टरों को मिलने की संभावना है।

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.