Himachal : इंसानियत को सलाम ! PGI में भर्ती साक्षी के इलाज के लिए जुटा दिए 9 लाख, विदेश से भी आई मदद : Read More

News Updates Network
0
पीजीआई चंडीगढ़ में जिंदगी और मौत से जूझ रही 20 साल की साक्षी को बचाने के लिए पूरा देश एकजुट हो गया है। विदेश में गए युवा भी साक्षी की मदद को आगे आए हैं। रविवार देर शाम 5 बजे तक साक्षी के चाचा कमलदीप के बैंक अकाऊंट में 9 लाख डोनेशन पहुंच चुकी है। इनमें साढ़े 6 लाख रुपए पिछले 41 घंटों में आए हैं। 

इसकी जानकारी साक्षी के चाचा कमल दीप ने दी है। साक्षी के पिता हरवंश लाल ने गांव के लोगों समेत सभी प्रदेश, देश और विदेश से रुपए ट्रांसफर करने वाले युवाओं समेत सभी का आभार जताया है। साथ ही अपील की है कि बेटी के इलाज के लिए जरूरत के अनुसार प्यार मिल चुका है। प्लीज, अब डोनेशन नहीं सबकी दुआ की जरूरत है। 

बता दें कि साक्षी नगरोटा विधानसभा के तहत आती ग्राम पंचायत सियूंड की रहने वाली है और कुछ दिन पहले घर के पास मां के साथ घास लेने गई थी। इसी दौरान 150 मीटर खाई में गिरने से उसकी रीढ़ की हड्डी, सिर और पसलियों में काफी चोटें आई थीं, जिनके अब ऑप्रेशन होंगे। उधर, रविवार को उनके घर लोगों का आना-जाना लगा रहा।

एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी पालमपुर और एबीवीपी हिमाचल के छात्र भी साक्षी की सांसें लौटाने आए आगे

रविवार को पालमपुर एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी और एबीवीपी हिमाचल के स्टूडैंट्स भी साक्षी की सांसें लौटाने के लिए आगे आए और गुप्त तरीके से दान किया। इसके अलावा कई समाजसेवी संस्थाओं के सदस्यों के साथ आम जनता ने भी जरूरत के अनुसार हैल्प की, वहीं दिनभर लोग साक्षी के पिता का हाल जानते रहे। कुछ लोगों ने घर पर आकर भी हैल्प की। साक्षी के पिता सोमवार को बेटी से मिलने चंडीगढ़ जाएंगे।

पीजीआई में भागदौड़ कर भाई भी बीमार, पड़ोस का युवक गया चंडीगढ़

साक्षी के चाचा कमलदीप ने बताया कि उनकी 4 बजे के करीब साहिल से बात हुई थी। साक्षी अभी भी ट्रामा सैंटर में वैंटीलेटर पर है। पीला ब्लड चढ़ाया जा रहा है। कुछ-कुछ रिकवर हो रहा है। साक्षी का भाई साहिल भी पी.जी.आई. में अकेला भागदौड़ कर बीमार हो गया है। अब उसके सहारे के लिए पड़ोस से ही युवक को चंडीगढ़ भेजा गया है।

Post a Comment

0 Comments
Post a Comment (0)
To Top