बिलासपुर : अध्यापक खुद नहीं लगाते मास्क, नियमों की उड़ाते है धज्जियां, बच्चों से क्या रखेंगे उम्मीद

बिलासपुर: राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला जामली में सामने आया हैं। जहां बच्चों ने तो दूर की बात अध्यापकों ने भी मास्क पहनना जरुरी नहीं समझा है। हालात यह है कि स्कूल में अधिकतर अध्यापक व छात्र बिना मास्क के ही घूमते नजर आते हैं, स्कूल में जाकर तो ऐसा लगता है जैसे यहां अध्यापक बच्चों की कोरोना से बचाने के लिए कोई जिम्मेवारी ही नहीं समझ पा रहे हैं।  

देलग स्कूल में पिछले दिनों एक साथ मिले थे 23 संक्रमित

जिला में अभी कुछ दिन पहले ही देलग स्कूल में एक  साथ 23 स्कूल के छात्र कोरोना से संक्रमित मिले थे, जिससे क्षेत्र में वह स्कूल में सनसनी का माहौल पैदा हो गया था और अभिभावकों को भी अपने बच्चों की चिंता सताने लगी थी। लेकिन इतने अधिक मामले एक साथ स्कूल में आने के बाद भी कुछ स्कूल इससे सबक नहीं ले रहे है और सरेआम कोरोना के नियमों की धज्जियां उड़ाकर अपनी मनमानी कर रहे हैं।


शिक्षा विभाग स्कूली छात्रों के कोरोना से बचाव के लिए निरंंतर प्रयास कर रहा है। यह मामला संज्ञान में आते ही तुरंत इस बारे में स्कूल की प्रधानाचार्या से बात की गई और उन्हें सख्त निर्देश दिए गए हैं कि स्कूल में बिना मास्क के कोई भी छात्र व अध्यापक न आए।
Previous Post Next Post