हिमाचल: राहत राशि जारी करने की एवज में रिश्वत की मांग, पैसे दिलवाना जनता हूं तो निकालना भी जनता हूं

Anil Kashyap
0
न्यूज अपडेट्स 
मंडी, 07 फरवरी: पिछले वर्ष की भारी बरसात ने क्षेत्र में खासी तबाही मचाई है। प्रभावित परिवारों को सरकार ने मकान बनाने के लिए 7 लाख की राशि देना भी शुरू किया है, जिसमें पटवारी हल्का की रिपोर्ट को अनिवार्य किया गया।

धर्मपुर विस क्षेत्र के पटवारी ने प्रभावित परिवार से राहत राशि जारी करने के बदले पैसा देने की बात कही है। हालाकिं इसकी पुष्टि पुरी तरह से जांच पड़ताल के बाद ही चलेगी, लेकिन यह ओडियो क्षेत्र में आग की तरह फैल गई है।

एसडीएम धर्मपुर राजेन्द्र गौतम के पास भी यह ओडियो पहुंच चुका है। पटवारी महिला से फोन पर बात करता सुनाई दे रहा है कि जो बात हुई है उसे तुरंत दे दिया जाए। वहीं महिला कह रही है कि कितना चाहिए 50 हजार तो पटवारी कहता है मैं पैसा दिलवाना जानता हूं तो निकालना भी जानता हूं। कभी भी जांच हो सकती है। वह कानून जानता है।

उन्होंने फोन पर महिला से कहा कि 11 लाख लेने के बाद भी आपका मन नहीं भरा है। इतना ही नहीं पटवारी कह रहा है कि जमीन अलग से दिलवाई है। अब यह मामला उच्चाधिकारियों के ध्यान में आते ही एसडीएम धर्मपुर ने इसकी जांच बैठा दी है और तहसीलदार धर्मपुर दौलत राम ठाकुर को जांच अधिकारी बनाया गया है। तहसीलदार पूरे मामले की जांच करेंगे और अपनी रिपोर्ट एसडीएम को सौंपेंगे।

एसडीएम धर्मपुर राजेन्द्र गौतम के बोल: एसडीएम धर्मपुर राजेन्द्र गौतम ने बताया कि जांच पूरी होने के बाद ही पता चलेगा कि इसमें कितनी सच्चाई है। लेकिन जैसे ही यह मामला उनके ध्यान में आया इसकी जांच शुरू करवा दी है। उन्होंने बताया कि अभी तक उनके पास लिखित रूप में किसी ने शिकायत नहीं की है और अगर लिखित रूप में शिकायत आती है तो तुरंत कार्रवाई भी की जाएगी।

Post a Comment

0 Comments
Post a Comment (0)
To Top