एचआरटीसी: चैकिंग के दौरान सब इंस्पेक्टर पर दुर्व्यवहार और गाली गलौच का आरोप, प्रबंध निदेशक और पुलिस को शिकायत

न्यूज अपडेट्स 
शिमला, 31 दिसंबर: एच. आर.टी.सी. की बसों में ड्यूटी के दौरान चैकिंग पर जा रहे इंस्पैक्टर परिचालकों से दुर्व्यवहार कर रहे हैं। इसी तरह का मामला शिमला में सामने आया है। कंडक्टर ने एच. आर.टी.सी. सब इंस्पैक्टर के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई है। इसके अलावा एच.आर.टी.सी. के प्रबंध निदेशक रोहन चंद ठाकुर को भी कंडक्टर द्वारा शिकायत भेजी गई है।

कंडक्टर ने शिकायत में आरोप लगाया है कि सब इंस्पैक्टर ने चैकिंग के दौरान उसके साथ दुर्व्यवहार किया और धक्का- मुक्की की। शिकायत पत्र में कंडक्टर ने लिखा है कि वह एच. आर.टी.सी. के तारादेवी डिपो में परिचालक के पद पर तैनात है। वह बीते वीरवार को बस नंबर एच.पी. 03- 6156 में सेवाएं दे रहा था। बस शिमला से नागण जा रही थी। उसने बताया कि रूट पर पुलवाहल में बस रुकी तो यहां पर स्थानीय यात्री सामान रखने लगे और हम अपने गंतव्य की ओर जा रहे थे। पुलवाहल में बहुत से यात्री बस में बैठे थे और वह टिकट काट रहा था।

बस अभी लगभग एक ही किलोमीटर पहुंची थी, तभी एक सब इंस्पैक्टर बस में चढ़े और जब सब इंस्पैक्टर बस में चढ़े तो वह टिकटें काट रहा था। इस दौरान सब इंस्पैक्टर ने उससे टिकट काटने की मशीन छीन ली। कंडक्टर को बस से बाहर निकाल कर दोनों दरवाजे बंद कर लिए और बस की कुंडियां लगा दीं।

कंडक्टर ने आरोप लगाया कि जब सब इंस्पैक्टर बस से बाहर आया तो उसके साथ गाली-गलौच करने लगा। इस दौरान काफी भद्दी गालियां कंडक्टर को दीं। परिचालक ने पुलिस से मांग की है कि इस तरह के व्यवहार के लिए सब इंस्पैक्टर के खिलाफ कानूनी कार्रवाई अमल में लाई जानी चाहिए। वहीं दूसरी ओर प्रबंधन से भी मांग उठाई है कि सब इंस्पैक्टर के खिलाफ उचित कदम उठाया जाना चाहिए।

कंडक्टर के साथ सब इंस्पैक्टर द्वारा किए गए दुर्व्यवहार पर हिमाचल परिवहन मजदूर संघ भी उग्र हो गया है। संघ के पदाधिकारियों ने आरोप लगाते हुए कहा कि मुख्य कार्यालय शिमला में तैनात यह सब इंस्पैक्टर आए दिन हिमाचल परिवहन मजदूर संघ व अन्य कई परिचालकों की झूठी रिपोर्ट बनाकर प्रसारित कर रहा है, जिसकी वजह से परिचालक वर्ग मानसिक रूप से बहुत परेशान है। ऐसे में प्रबंधन इस सब इंस्पैक्टर के खिलाफ कार्रवाई करे।
Previous Post Next Post