हिमाचल: महिला डॉक्टरों के बीच मरीजों को लेकर जोरदार झड़प, अधिकारियों तक पहुंचा मामला

न्यूज अपडेट्स 
ऊना, 18 दिसंबर : जिला मुख्यालय ऊना (Una)के रीजनल अस्पताल के गायनेकोलॉजी विंग में सोमवार को दो महिला चिकित्सकों के बीच मरीजों को लेकर जोरदार झड़प हो गई। हालत यह हो गई की कुछ देर के बाद मामला सुलझाने की बजाय और भी उलझता चला गया। पहले विभाग के अधिकारियों ने बीच बचाव करते हुए मामले को शांत किया और दोनों चिकित्सकों को नियमित ओपीडी करने के निर्देश जारी किए, लेकिन कुछ देर के बाद फिर से मामला भडक़ उठा और एक चिकित्सक के परिजनों ने अस्पताल पहुंचकर उनकी बेटी के साथ अन्यायपूर्ण व्यवहार के आरोप लगाना शुरू कर दिया। इस दौरान अस्पताल में उपचार के लिए पहुंचे मरीजों को भी काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। 

वहीं पढ़े लिखे चिकित्सकों के बीच हुई इस नौक झौंक को लेकर पूरा दिन क्षेत्रीय अस्पताल में चर्चाओं का बाजार गर्म रहा। अस्पताल में मौजूद लोगों को यह समझने में भी काफी वक्त लग गया कि आखिर पूरा मुद्दा था क्या। दरअसल एक महिला चिकित्सक जब अस्पताल पहुंची तो दूसरी महिला चिकित्सक के पास मरीजों की लाइन लगी थी उसके बाद एक महिला चिकित्सक भड़क उठी जिसके बाद माहौल गर्म हो गया। महिला चिकित्सक के परिजनों ने उनकी बेटी के साथ अस्पताल में अन्याय होने के आरोप जड़े।

अस्पताल में तैनात की गई गाइनेकोलॉजिस्ट डॉक्टर प्रियंका शर्मा ने कहा कि उनके साथ अभद्र व्यवहार किया गया है, वह अपने मरीजों की जांच अपने चेंबर में बैठकर कर रही थी। इसी दौरान दूसरी चिकित्सक द्वारा मरीजों से जबरन ओपीडी की पर्चियां छीन कर ले जाने का प्रयास किया गया, जिसका उन्होंने विरोध किया। तो दूसरे पक्ष की चिकित्सक ने उनके साथ अभद्र व्यवहार किया है।

अस्पताल में ही तैनात दूसरी स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टर स्विंकी जैन का आरोप है कि उनके चैंबर तक उनके मरीजों को पहुंचने ही नहीं दिया जाता। मरीजों को दूसरी चिकित्सक द्वारा जबरन छीन कर ले जाए जाते है। वही उनके बारे में अस्पताल परिसर सहित मरीजों में भी कई तरह की भ्रांतियां फैलाई जा रही हैं।

रीजनल अस्पताल के मेडिकल सुपरिंटेंडेंट डॉ विकास चौहान ने कहा कि मामला विभाग के संज्ञान में आया है। चिकित्सकों की आपसी बहस और झड़प के चलते रोगियों को भी दिक्कत का सामना करना पड़ा है। दोनों ही चिकित्सकों को समझा बूझाकर आपसी लड़ाई को खत्म करते हुए अपने काम पर फोकस करने की हिदायत जारी की गई है। जबकि मामले को लेकर विभागीय जांच अमल में लाई जाएगी।
Previous Post Next Post