मुकेश अग्निहोत्री के बयान पर भड़का पेंशनर्स कल्याण संगठन, कई बार कर चुके पत्राचार, समस्या नहीं हुई हल

न्यूज अपडेट्स
शिमला, 02 नवंबर: उपमुख्यमंत्री मुकेश अग्निहोत्री के एक बयान पर पथ परिवहन पैंशनर्ज कल्याण संगठन भड़क गया है। संगठन के अध्यक्ष केसी चौहान, उपाध्यक्ष दयाल सिंह कंवर, प्रधान तरसेम चौधरी, महासचिव सुरेंद्र गौतम व विधि सलाहकार राजेन्द्र ठाकुर ने उपमुख्यमंत्री मुकेश अग्निहोत्री के इस वक्तव्य पर कड़ी आपत्ति जताई है कि पैंशनर्ज व कर्मचारी हड़ताल पर जाने की धमकी न दें क्योंकि उनको पैंशन व वेतन हर महीने दिया जा रहा है और मांगों के बारे में प्रबंध निदेशक से बात करें।

उन्होंने उपमुख्यमंत्री को बताया कि वेतन व पैंशन के अलावा भी अनेकों समस्याएं हैं, जिनका निवारण काफी समय से लंबित है और जिनके बारे में प्रबंध निदेशक व परिवहन मंत्री से अनेकों बार मामला उठाया जा चुका है। प्रबंध निदेशक से कई बार वार्ता हो चुकी है लेकिन समस्याएं सरकार के स्तर की होने का बहाना बना कर टाली जा रही हैं। 

उन्होंने कहा कि संगठन द्वारा अपनी समस्याओं के समाधान के लिए उपमुख्यमंत्री से भी इसी वर्ष 6 बार पत्राचार किया जा चुका है तथा उनसे निजी तौर पर भी मिल चुके हैं। उन्होंने मांग की है कि संगठन के साथ परिवहन मंत्री की बैठक करवाई जाए क्योंकि प्रबंध निदेशक के साथ वार्ता में बहुत सारी समस्याओं का हल नहीं निकल पाया है। 

ये रखीं मांगें: पैंशनरों ने मांग रखी कि पैंशनर्ज की पैंशन का स्थायी समाधान किया जाए ताकि सभी को हर माह की पहली तारीख को पैंशन मिल सके। इसके अतिरिक्त पैंंशनर्ज के सभी प्रकार के लंबित एरियर का प्रदेश सरकार के पैंशनर्ज की तरह एकमुश्त भुगतान किया जाए। 65, 70 व 75 वर्ष की आयु पूरी कर चुके पैंशनर्ज को प्रदेश सरकार के पैंशनर्ज की तरह 5, 10 व 15 प्रतिशत बढ़ा हुआ पैंशन भत्ता दिया जाए। इसके अतिरिक्त चिकित्सा बिलों का एकमुश्त भुगतान किया जाए।

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.