हिमाचल: सोना चोरी करके मुथुट फाइनेंस के पास गिरवी रखकर लिया लोन, पुलिस ने किया गिरफ्तार

News Updates Network
0
न्यूज अपडेट्स 
सोलन, 31 अक्टूबर: देश की नामी वित्तीय व गैर-बैंकिंग संस्था मुथुट फाइनेंस लिमिटेड ने आंख बंद कर चोरी के गहने को गिरवी रख लिया। इसका खुलासा पुलिस जांच में हुआ है। मुथूट फाइनेंस लिमिटेड देश में सबसे बड़ी स्वर्ण ऋण देने वाली कंपनी है।कंपनी सोने के लेन देन के वित्तपोषण के अतिरिक्त विदेशी मुद्रा सेवाएं, धन हस्तांतरण, धन प्रबंधन सेवाएं, यात्रा और पर्यटन सेवाएं प्रदान करती है तथा सोने के सिक्के बेचती है। सवाल ये पैदा होता है कि नामचीन चोर का सोना कैसे गिरवी रख लिया गया। जबकि शक होने की सूरत में पुलिस को सूचित करना चाहिए। लाखों के गहनों को महज 42 हजार रुपये में गिरवी रख लिया।

12 अक्टूबर को सोलन में महिला ने शिकायत में पुलिस को बताया कि वो कंपनी में ड्यूटी के लिए गई थी। ड्यूटी से वापस आने पर में पाया, लोहे की अलमारी का लॉक टूटा हुआ था। मंगलसूत्र, 2 गले में पहनने के आभूषण, 3 कान की बालियां 2 सैट छोटी बड़ी, 4 अंगूठियां व 2-3 हजार रू0 कैश गायब था। तफ्तीश के दौरान आसपास के सीसीटीवी फुटेज को चेक किया गया और तकनीकी जांच की गई।

पुलिस को पता चला कि 32 वर्षीय आरोपी आदर्श राणा पुत्र सही राम निवासी गांव ठारू (मझगाँव) ने वारदात को अंजाम दिया है। पहले भी चोरी की घटनाओं में शामिल रहा है। टीम का गठन कर आरोपी की तलाश आसपास के इलाकों में की गई। मोहाली में ठिकाने का पता लगाया गया। जिसे पुलिस टीम द्वारा 23 अक्टूबर को मोहाली से गिरफ्तार किया गया। 31 अक्टूबर तक पुलिस रिमांड में आरोपी ने पूछताछ में बताया कि उसने ही चोरी की घटना को अंजाम दिया है।

पूछताछ में आरोपी आदर्श राणा ने बताया कि उसने चोरी किये गये आभूषणों को मुथुट फाइनेन्स परवाणू में गिरवी रखा था व 42 हजार रुपये का लोन लिया था। इसके बाद आरोपी की निशानदेही पर मुथुट फाइनेन्स परवाणू से गिरवी रखे हुए सोने के गहनो को बरामद किया गया।

पूछताछ आरोपी ने यह भी बताया कि चोरी आभूषणों में से एक अंगूठी मनिन्द्र उर्फ मंटू पुत्र दिलबाग निवासी धर्मपुर को दी है, जिस पर आरोपी मनिन्द्र को तफ्तीश में शामिल कर गिरफ्तार किया गया। दूसरे आरोपी ने पूछताछ में बताया कि उसने अंगूठी को आगे परिचित राम शंकर को दी है। अंगूठी लेने वाले आरोपी को 9 नवंबर तक न्यायिक हिरासत में भेजा गया है। रविवार को को 38 वर्षीय राम शंकर पुत्र रामजस निवासी पंचकुला को भी तफ्तीश में शामिल किया गया, जिसने चोरी शुदा अंगूठी को पुलिस को सौंप दिया।

एसपी गौरव सिंह के बोल : एसपी गौरव सिंह ने बताया कि मुख्य आरोपी आदर्श राणा एक आदतन चोर है साथ ही नशेड़ी भी है, जिसके खिलाफ पहले भी चिट्टे से जुड़े 6 और चोरी के तीन मुकदमे दर्ज है। उन्होंने कहा कि अन्य मुकदमों में भी जमानत रद्द करने की याचिका कोर्ट में डाली जा रही है। एसपी ने बताया कि वारदात में 100 प्रतिशत की बरामदगी हो चुकी है।

Post a Comment

0 Comments
Post a Comment (0)
To Top