हिमाचल: HRTC बसों में टिकट की जिम्मेदारी यात्री पर डालने की तैयारी, बैठक में 9 सूत्रीय मांग पर हुई चर्चा

News Updates Network
0
न्यूज अपडेट्स 
शिमला, 07 सितंबर : हिमाचल पथ परिवहन निगम मुख्यालय शिमला में स्टेट एचआरटीसी कंडक्टर यूनियन की बैठक प्रबंध निदेशक रोहन चंद ठाकुर के साथ संपन्न हुई जिसमें स्टेट एचआरटीसी कंडक्टर यूनियन के पूर्व प्रधान प्यारेलाल कश्यप प्रांतीय प्रधान कृष्ण चंद  महासचिव यशवंत ठाकुर के साथ 25 सदस्य शामिल हुए। 

बैठक में स्टेट एचआरटीसी कंडक्टर यूनियन ने 9 सूत्रीय मांग पत्र पर विस्तार से चर्चा की तथा प्रबंध निदेशक महोदय ने कुछ मांगों को बिल्कुल जायज ठहराते हुए उन पर अम्ल करने के लिए अधिकारियों को त्वरित निर्देश दिए । 

परिचालकों की प्रथम मांग वेतन विसंगति की थी जिस पर विस्तार से चर्चा की गई व प्रबंध निदेशक ने आश्वासन दिया और कहा कि आपकी मांग जायज है परन्तु यह मेरे कार्यक्षेत्र का कार्य नहीं है परंतु अगर वित्त विभाग मुझे निर्देष देता है तो मैं उसका पालन करूंगा और वेतन विसंगति में मुझसे जो भी सहायता हो सकती है मैं वह करने का भरसक प्रयास करूंगा और हमारे प्रबंधन की तरफ से आपके लिए पॉजिटिव रिस्पांस ही रहेगा ।

लगेज पॉलिसी पर हुई चर्चा 

बसों में सामान ले जाने की नई नोटिफिकेशन के ऊपर चर्चा की गई उस दौरान प्रबंध निदेशक रोहन चंद ठाकुर ने कहा जो नई नोटिफिकेशन जारी की गई है उसमें हम कुछ फेरबदल कर रहे हैं और परिचालक उसको आधार बनाकर ही अपना कार्य करें तथा इंटर स्टेट रूटों पर जाने वाली बसों में परिचालकों को दिन व रात्रि दोनों समय फ्रंट सीट व लोकल रूटो पर रात को फ्रंट सीट व दिन में अन्तिम सीट पर सहमति बनी तथा दिन में अगर बस खाली है तो फ्रंट सीट को छोड़कर परिचालक किसी भी सीट पर बैठ सकता है ।

सीनियारिटी लिस्ट पर चर्चा 

बैठक में सीनियारिटी लिस्ट के बारे में चर्चा की हुई उसमें अधिकारियों द्वारा बताया गया कि वह मैरिट के आधार पर होती है और उसी को आधार बनाकर बनाई गई है जिस किसी को अपने स्थान के ऊपर आपत्ति है तो वह पत्र लिखकर बताएं उसे 15 दिनों के भीतर दुरुस्त कर दिया जाएगा।

प्रबंध निदेशक रोहन चंद ठाकुर ने टिकट की जिम्मेदारी यात्री की हो इस मांग को जायज ठहराते हुए अपने अधिकारियों को निर्देश दिए की अपने कानूनी सलाहकारों से विचार विमर्श करके इस पर जो कार्रवाई अमल में लाई जा सकती है उसे तुरंत प्रभाव से किया जाए। 

Post a Comment

0 Comments
Post a Comment (0)
To Top