हिमाचल : सुक्खू लिमिटेड कंपनी के दो कर्मचारी उठा रहे मामला, अपशब्द कर दें साबित - छोड़ दूंगा राजनीति : विनोद कुमार

Anil Kashyap
0
Himachal: Two employees of Sukhu Limited Company are taking up the case, prove it by abusing - I will leave politics: Vinod Kumar
प्रेसवार्ता करते हुए नाचन विधायक विनोद कुमार 

न्यूज अपडेट्स 
मंडी, 21 अगस्त : हिमाचल प्रदेश में नाचन के विधायक विनोद कुमार के साथ हुआ प्रकरण आजकल सुर्खियों में छाया हुआ है। जहां कुछ लोग विधायक का साथ दे रहे है वह कुछ लोग विधायक के विरोध में भी उतरे आए है। विधायक विनोद कुमार के खिलाफ ज्यादातर कांग्रेस से जुड़े हुए लोग है, जो पिछले 15 सालों से सत्ता से वंचित होने का दंश झेल रहे है।

इसी मामले में आज विधायक विनोद कुमार ने प्रेस कांफ्रेंस के माध्यम से आम जनता के सामने अपनी बात रखी। विधायक विनोद कुमार का कहना है कि उन्होंने ऐसा कोई कार्य नहीं किया है जिसके चलते उनको माफी मांगनी पड़े। ना तो उन्होंने कोई अपशब्द इस्तेमाल किए है और ना ही किसी तरह की कोई धमकी दी है।

विधायक विनोद कुमार ने आम जनता से पूछा कि एक जनप्रतिनिधि का काम क्या होता है। उन्होंने बताया कि जब वह राजनीति में आए थे तो उनके पिता ने एक ही शिक्षा दी थी कि जब राजनीति में आ गए हो तो अपने क्षेत्र के सभी लोगों को अपना परिवार मानना और उनकी लड़ाई को आपने लड़ना है। उन्होंने कहा कि वह नाचन की जनता के लिए रात दिन खड़े है, जब तक उनके शरीर में एक बूंद खून भी बाकी वह नाचन की जनता के लिए लड़ते रहेंगे।

विधायक विनोद कुमार ने कहा कि मेरी आवाज ऊंची है, और यह मेरी आदत है। मैंने उन लोगों की आवाज उठाई जो 13 किमी की दूरी पैदल तय करके तिरपाल लेने आए थे और कई दिनों से घर के बाहर रातें गुजारने पर मजबूर थे मैंने क्या गलत किया। उन्होंने यही सवाल नाचन व हिमाचल की समस्त जनता से पूछा है। उन्होंने कहा कि अगर एक जनप्रतिनिधि आम लोगों की आवाज ना बन सके तो वह किस काम का है।

विधायक विनोद कुमार ने कांग्रेस के नेताओं को चुनौती देते हुए कहा कि बल्ह में हुए प्रकरण के लाइव वीडियो सोशल मीडिया पर मौजूद है। मैंने किसी को एक भी अपशब्द नही कहा है। उन्होंने कहा कि अगर कोई कांग्रेसी उनके द्वारा बोला एक भी अपशब्द साबित कर देगा तो वह राजनीति से त्याग पत्र दे देंगे।

उन्होंने कहा कि अगर अधिकारी व कर्मचारी नाचन की जनता की आवाज को दबाएंगे तो वह ऐसी सैकड़ों एफआईआर सहन करने की तैयार है। उन्होंने कहा कि उन अधिकारियों को असहाय और पीड़ित जनता के आंसू नहीं दिखे। लेकिन उनको पूछना गुनाह हो गया। जबकि मैने किसी को भी किसी भी प्रकार से ठेस नही पहुंचाई है। उन्होंने प्रदेश की जनता से पूछा है कि अगर एक जनप्रतिनिधि अपनी जनता के लिए इतना भी नही कर सके तो उसको किस लिए चुन कर विधानसभा भेजा है।

विधायक विनोद कुमार ने कहा कि हंगामा इस मामले को बिना मतलब तुल देने वाले कांग्रेस के नेता नही बल्कि सुक्खू प्राइवेट लिमिटेड कंपनी का दो कर्मचारी है। एक को सुक्खू प्राइवेट लिमिटेड ने डायरेक्टर बना रखा है और दूसरे को एपीएमसी में नौकरी दी है। जिनका इस प्रकरण से कुछ भी लेना देना नही है। नाचन की जनता के लिए उन्होंने खुद तो कभी कुछ किया नही और मुझे बिना मतलब बदनाम करने में जुटे हुए है। क्योंकि सुक्खू प्राइवेट लिमिटेड उनको इस बात की सैलरी देती है।

इस मौके पर मंडल अध्यक्ष सोहन सिंह ठाकुर, जिला परिषद उपाध्यक्ष मुकेश चन्देल, महामंत्री नाचन भाजपा नरेंद्र भंडारी, महामंत्री हुकम ठाकुर, रविन्द्र राणा और मुरारी लाल राणा समेत अनेक भाजपा पदाधिकारी उपस्थित रहे। प्रेस कांफ्रेंस में हादसे के पीड़ित भी मौजूद रहे।

Post a Comment

0 Comments
Post a Comment (0)
To Top